बधाई हो! आपने बिल्कुल सही निवेश साधन का चुनाव किया है। यदि आप पहली बार म्यूचुअल फंड में निवेश करने जा रहे हैं तो घबराने की कोई बात नहीं। शुरुआत में आपको सिर्फ एक बार केवाईसी (KYC) कराना अनिवार्य है।

केवाईसी क्या है?

KYC का अर्थ है ‘Know Your Customer’ यानि ‘अपने ग्राहक को जानें’

बैंक में खाता खुलवाने के समय (और बाद में भी) आपने यह प्रक्रिया की होगी। मोबाइल सिम लेते समय भी आपने केवाईसी कराया होगा। LPG (रसोई गैस) के लिए भी।

वस्तुत: आजकल लगभग हर जगह अपनी पहचान और पता को साबित करने के लिए केवाईसी अनिवार्य किया जा रहा है।

म्यूचुअल फ़ंड में निवेश शुरू करते समय, किसी एक केवाईसी पंजीकरण संस्था (KRA) से, केवल एक बार आपको यह प्रक्रिया पूर्ण करनी है। और यह केवाईसी सभी म्यूचुअल फ़ंड के लिए मान्य होगी।

cKYC (यानि सेंट्रल केवाईसी) लागू होने के बाद, अब आपको एक 14 अंकों का KIN (KYC Identifier Number यानि केवाईसी पहचान संख्या) दिया जाएगा जो सभी म्यूचुअल फ़ंड हाउस में मान्य होगा।

साभार: म्यूचुअल फ़ंड सही है

केवाईसी कहाँ करें?

निम्नलिखित KRA (KYC पंजीकरण संस्था) में से किसी एक के द्वारा आप केवाईसी प्रक्रिया कर सकते हैं:

  1. किसी भी म्यूचुअल फ़ंड हाउस से – आज की तारीख में, भारत में 42 AMC (एसेट मैनेजमेंट कंपनी) हैं।(member टैब पर क्लिक करें) अपने नजदीकी ब्रांच जानने के लिए यहाँ क्लिक करें।
  2. किसी भी म्यूचुअल फ़ंड रजिस्ट्रार से – भारत में अभी चार RTA (रजिस्ट्रार एवं ट्रान्सफर एजेंट) हैं:- KARVY, CAMS, FTAMIL और SBFS
  3. किसी भी शेयर ब्रोकर से – जब आप पहली बार शेयर या म्यूचुअल फ़ंड में निवेश करने जाते हैं।

केवाईसी कैसे करें?

आप केवाईसी दो तरीके से कर सकते हैं – ऑफलाइन (फॉर्म भरकर) या ऑनलाइन (इंटरनेट पर)

ऑफलाइन केवाईसी (फॉर्म भरकर)

केवाईसी फॉर्म डाउनलोड करने के लिए यहाँ क्लिक करें। केवाईसी फॉर्म सही से भरें। अपना फोटो सही स्थान पर चिपकाएँ।

लिस्ट में दिए गए पहचान-पत्र (पैन कार्ड, मतदाता पहचान पत्र, आधार कार्ड, आदि) में से कोई एक की स्वहस्ताक्षरित फोटोकोपी लगाएँ। वर्तमान एवं स्थायी निवास का पता (मतदाता पहचान पत्र, आधार कार्ड, आदि) का स्वहस्ताक्षरित फोटोकोपी लगाएँ। उचित स्थान पर हस्ताक्षर करें।

पूर्ण रूप से भरे हुए केवाईसी फॉर्म को पहचान और निवास के प्रमाण के साथ, किसी भी केवाईसी पंजीकरण संस्था में जमा कराएं। सत्यापन के लिए मूल (original) प्रमाण साथ ले जाना न भूलें।

ऑनलाइन केवाईसी (इंटरनेट पर)

आज के इस इंटरनेट युग में अधिकांश म्यूचुअल फ़ंड हाउस और म्यूचुअल फ़ंड रजिस्ट्रार e-kyc की सुविधा प्रदान करते हैं। निवेशकों की सुविधा के लिए कुछ लिंक नीचे दिए गए हैं:

CAMS e-kyc, Sundaram BNP e-kycSBI e-kyc, Aditya Birla e-kycKarvy KRA

ई-केवाईसी लिंक पर क्लिक करें और दिए गए निर्देशों का पालन करते हुए फॉर्म भरें। पहचान और पता के प्रमाण को अपलोड करें। या आधार के द्वारा बिना किसी प्रमाण के केवाईसी पूर्ण करें। 

आधार OTP की मदद से पाँच मिनट के अंदर अपना केवाईसी पूरा कर आप अपने प्रथम निवेश के लिए तैयार हैं। हमारा सुझाव है कि आधार का सदुपयोग कर बहुत कम समय में और बड़ी ही सरलता से अपना केवाईसी करें।

ध्यान दें: माननीय सुप्रीम कोर्ट के नवीनतम आदेश के बाद हो सकता है कि ई-केवाईसी करने में आपको परेशानी हो रही हो।

ऐसी परिस्थिति में आपको फॉर्म भरकर स्वयं केवाईसी कराना होगा।

केवाईसी क्यों?

साभार: म्यूचुअल फ़ंड सही है

केवाईसी पूर्ण करने के बाद अपना KYC status यहाँ चेक करें। CVL KRA, NSDL KRA,  Karvy KRA, CAMS KRA

केवाईसी पूर्ण होने के बाद आप म्यूचुअल फ़ंड में निवेश के लिए पूर्ण रूप से तैयार हैं। हमारा मानना है कि निवेश का निर्णय आपके जोखिम लेने की क्षमता पर आधारित होना चाहिए।

यह संभव है कि एक 30 वर्ष का व्यक्ति अपने शुरुआती दिनों में सुरक्षित साधनों में निवेश करना चाहता हो जबकि उम्र के हिसाब से वह सर्वाधिक जोखिम लेने के काबिल है। दूसरी ओर यह भी संभव है कि एक सेवानिवृत व्यक्ति मँहगाई-दर से अधिक रिटर्न के लिए थोड़ी जोखिम लेने के लिए तत्पर हो।

जोखिम लेने की क्षमता का आकलन करने के लिए यहाँ क्लिक करें।