क्या म्यूचुअल फ़ंड से संबंधित इस अस्वीकरण (disclaimer) को पढ़कर आप सोचने लगे … छोड़ो यार! कहाँ शेयर बाजार के जोखिम में फंसें।

म्यूचुअल फंड निवेश बाज़ार जोखिम के अधीन हैं, योजना संबंधी सभी दस्तावेज़ों को सावधानी से पढ़ें।

जोखिम और म्यूचुअल फंड

तो क्या आप मुझे बताएँगे कि जोखिम कहाँ नहीं है? सड़क पर दुर्घटना के जोखिम से घबराकर क्या आप घर से निकलना छोड़ देंगे? या हेलमेट / सीट-बेल्ट पहनकर और यातायात के नियमों का पालन कर जोखिम को कम करने की कोशिश करेंगे? 

वैसे, यदि यातायात पुलिस न हो, तो ज़्यादातर लोग बिना हेलमेट / सीट-बेल्ट लगाए गाड़ी चलाते नज़र आते हैं। दुबारा न मिलने वाली जिंदगी को तो आप दांव पर लगा देते हैं, लेकिन बार-बार मिलने वाले धन को समझदारी से निवेश करने में आप जोखिम महसूस करते हैं।

म्यूचुअल फ़ंड निवेश में क्या जोखिम है?

आमतौर पर म्यूचुअल फ़ंड निवेश में मुद्रा जोखिम, तरलता जोखिम, राजनीतिक जोखिम, कंपनी जोखिम और क्रेडिट जोखिम होता है। यहाँ तक कि जिस सावधि जमा को आप सुरक्षित समझते हैं, उसमें भी मुद्रास्फीति का जोखिम होता है।

आप निवेश जोखिम को खत्म नहीं कर सकते हैं। लेकिन निवेश रणनीतियों को अपनाकर विभिन्न जोखिम को प्रबंधित कर सकते हैं।

साभार: म्यूचुअल फंड सही है

निवेश जोखिम के बारे में सम्पूर्ण जानकारी के लिए यहाँ क्लिक करें और इस विषय पर हमारा नवीनतम अभिलेख पढ़ें। याद रखिए, जोखिम नहीं लेना भी एक जोखिम है।

जोखिम लेने की क्षमता का आंकलन करने के लिए यहाँ क्लिक करें और जानें कि आप कितना जोखिम उठा सकते हैं। फिर उसी आधार पर निवेश साधन का चुनाव करें।

गारंटी और म्यूचुअल फंड

फिर म्यूचुअल फ़ंड का दूसरा अस्वीकरण (disclaimer) जिससे निवेशक घबरा जाते हैं-

म्यूचुअल फंड, किन्हीं भी योजनाओं के अंतर्गत किसी लाभांश की गारंटी या आश्वासन नहीं देता है।

बैंक का फिक्स डिपॉजिट आपको रिटर्न की गारंटी तो देता है परंतु महँगाई दर से अधिक रिटर्न की गारंटी नहीं देता। यदि महँगाई दर, बैंक FD रेट के बराबर या उससे अधिक हो जाए तो बैंक में सुरक्षित रखा आपका धन बढ़ने की बजाय घट जाएगा।

साभार: म्यूचुअल फंड सही है

बचत खाता पर 3.5% ब्याज धन-वृद्धि के लिए काफी नहीं है। और यदि महँगाई दर (inflation) को ध्यान में रखें, (जिसे हम नज़र-अंदाज कर बहुत बड़ी भूल करते हैं) तो फ़िक्स्ड डिपॉज़िट (FD) का रिटर्न (7.0 – 5.0 = 2.0%) बचत खाता से भी कम हो जाता है। क्या आप अपने धन को कम करने के लिए बैंक में जमा कराते हैं! सोचिए।

अपने रोजमर्रा की जिंदगी पर एक निगाह डालकर देखिए – क्या सबकुछ गारंटीड है और जो कुछ भी आश्वस्त है, वह क्या उत्तम परिणाम ही देता है!

निष्कर्ष

कहते हैं ‘परिवर्तन संसार का नियम है’। इसलिए बेहतर यह है कि जोखिम के नाम से डर कर भागने की बजाए निवेश के विभिन्न साधनों के विषय में उचित जानकारी प्राप्त करें और सही माध्यम में निवेश करें ताकि लंबी अवधि में आपको समुचित लाभ मिल सके।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *